हरियाणा में खोले जाएंगे 1000 स्मार्ट प्ले-वे स्कूल

हरियाणा में खोले जाएंगे 1000 स्मार्ट प्ले-वे स्कूल

चंडीगढ़(धरणी): हरियाणा की मनोहर सरकार ने बालशिशुओं के बौद्धिक विकास को बेहतर बनाने के लिए प्रदेश में 1000 स्मार्ट प्ले-वे स्कूल खोलने का निर्णय लिया है। यह निर्णय मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वर्ष 2020-21 के बजट में की गई घोषणा के अनुसार प्रदेश में 3 से 6 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने की प्रतिबद्धता को दोहराते हुए यह निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में आज प्री-स्कूल खोलने के संबंध में हुई बैठक हुई, जिसमें शिक्षा मंत्री कंवर पाल भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने वर्तमान में प्राथमिक विद्यालयों के परिसर में चल रहे आंगनवाड़ी केंद्रों को स्मार्ट लर्निंग प्ले-वे स्कूलों में बदलने का निर्देश देते हुए कहा कि इन विद्यालयों के बच्चों के संज्ञानात्मक विकास के लिए पाठ्यक्रम को एनिमेशन व ऑडियो-विजुअल के रूप में डिजाइन किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि एन्युअल स्टेटस ऑफ  एजुकेशन रिर्पोट (एएसईआर) 2019 ‘प्रारंभिक वर्षों’ के निष्कर्षों ने इस तथ्य को उजागर किया है कि बच्चे के जीवन के पहले 1000 दिन स्कूली शिक्षा और सीखने के लिए महत्वपूर्ण आयाम होते हैं जो संभावित रूप से उनके भविष्य के रास्ते को आकार देते हैं। एएसईआर डाटा बताता है कि संज्ञानात्मक कौशल की आवश्यकता वाले कार्यों पर बच्चों का प्रदर्शन प्रारंभिक भाषा और प्रारंभिक संख्यात्मक कार्यों को करने की उनकी क्षमता से संबंधित है। यह दर्शता है कि कन्टेंट नॉलेज पर प्रारंभिक ध्यान देने की तुलना में प्ले-आधारित गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित करना अधिक आवश्यक है, जिससे स्मृति, तर्क और समस्याओं को सुलझाने की क्षमताओं में वृद्धि हो।